कब होगा पूरा सपना

तुल कुमार श्रीवास्तव

सर्व शिक्षा अभियान एक समयबध्द एकीकृत योजना के रूप में राज्य सरकारों के सहयोग से सब तक प्रथामिक शिक्षा पहुंचाने के दूरगामी लक्ष्य प्राप्त करने की एक ऐसी ऐतिहासिक पहल हैं। जो देश की प्राथमिक शिक्षा का रूप बदल देने के लिए प्रतिबध्द है और जिसका उद्देश्य 6-14 वर्ष के आयु के सभी बच्चों को उपयोगी और गुणवत्तापूर्ण प्राथमिक शिक्षा दिलवाना हैं। एसएसए को प्राथमिक शिक्षा के 2007 तक एंव बुनियादी शिक्षा के 2010 तक सर्वत्रीकरण कर लेने के उद्देश्य से शुरू किया गया था। बाद में इसकी समयसीमा को 2012 तक बढ़ा दिया गया। वर्ष 1998 में राज्यों के शिक्षामंत्रीयों के सम्मेलन में दिए गए सुझावों के आधार पर 2001 में सर्व शिक्षा अभियान को शुरू किया गया था।

यद्पि 2002 में किए गए 86वें संविधान संशोधन में बुनियादी शिक्षा को मूलभूत अधिकार बना दिया गया। नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा देने के प्रानधान को लागू करने के लिए बच्चों को नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा के अधिकार का अधिनियम संसद से अगस्त 2009 तक पारित नहीं कराया जा सका था। वर्ष 2001 सर्व शिक्षा अभियान को लागू किए जाते समय 6-14 आयु वर्ग के 3.40 करोड़ बच्चे स्कूल नहीं जा रहे थे। इसके चार वर्ष बाद 85 प्रतिशत आंवटित धनमाशि खर्च होने के बावजूद 40 प्रतिशत बच्चे (1.34 करोड़) बच्चे स्कूल से बाहर रह गए थे।

वर्ष 1999-2000 से 2009-10 तक के केन्द्रीय बजटों में लगभग 57,000 करोड़ रूपये एसएसए के लिए आंवटित किए गए थे। पर देश को विश्व में बच्चों की शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी बनाने के लिए आधारभूत संरचना तैयार करने,प्रशिक्षित अध्यापकों की उपलब्धता और शिक्षक-छात्र अनुपात में भी कमी लाने के लिए अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी हैं। चूंकि ईएफए ग्लोबल मॉनीटरिंग रिपोर्ट 2010, यूनेस्को के अनुसार भारत का स्थान 128 देशों में 105 वां है। और अपना देश अभी भी आंकड़ों के अनुसार कुछ अफ्रीकी देशों जैसे पाकिस्तान और बांग्लादेश के उस वर्ग में है जिसका शैक्षिक विकास सूचकांक (ईडीआई) कम है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s